12 विधानसभा क्षेत्रों में इस बार के चुनाव

जिले के 12 विधानसभा क्षेत्रों में इस बार के चुनाव में पार्टियों का बदला समीकरण नया रंग दिखाएगा। पिछले चुनाव में जीत दर्ज कराने वाले लोग इस बार नए समीकरण के गणित को सुलझाने में लगे हैं। 2010 में छह विधानसभा सीटों पर भाजपा और पांच पर जदयू ने कब्जा जमाया था। एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी ने जीत दर्ज की थी। पिछले चुनावों में साथ रहे भाजपा और जदयू अब एक दूसरे के खिलाफ हैं। ऐसे में दोनों को ही बढ़त बनाने के लिए इस बार एड़ी चोटी का जोर लगाना होगा। पिछले विधानसभा चुनावों में जदयू और भाजपा एक साथ थे।

एनडीए के प्रमुख घटक दल के रूप में भाजपा व जदयू ने कुल मिलाकर 11 सीटों पर कब्जा जमाया था। वहीं ढाका सीट पर पवन जायसवाल ने बतौर निर्दलीय कब्जा जमा लिया था। अब भाजपा व जदयू के अलगाव ने नए राजनीतिक समीकरण पैदा कर दिए हैं। एनडीए में लोजपा व रालोसपा के शामिल होने और जदयू-राजद व कांग्रेस के एक साथ होने से प्रत्याशियों के लिए चुनौतियां और अधिक मजबूत हुई हैं। उन्हें जीत दर्ज कराने के लिए इस बार पूरा दमखम लगाना होगा। इधर चिरैया के भाजपा विधायक अवनीश कुमार सिंह के इस्तीफा देकर जदयू से लोकसभा चुनाव लडऩे के बाद उपचुनाव में यह सीट राजद के कब्जे में चली गई है। वहीं, ढाका के निर्दलीय विधायक पवन जायसवाल के पार्टी में आने से भाजपा की घटी सीट बराबर हो गई है। अब महागठबंधन और एनडीए दोनों की ही छह-छह सीटें हैं। आसन्न विधानसभा चुनाव में इन्हीं दोनों के बीच कांटे की टक्कर तय है। हर सीट पर अभी से पार्टियों ने अपनी संभावनाएं तलाशनी शुरू कर दी हैं।

यहां चुनाव में विकास के मुद्दे के साथ-साथ जातीय समीकरण हमेशा से हावी रहे हैं। इधर नए गठबंधन के आकार लेने के बाद से प्रत्याशियों की तस्वीर भी साफ नहीं हुई है। जाहिर है इस बार एक दूसरे के मुकाबिल भाजपा और जदयू के समक्ष प्रत्याशी चुनने से लेकर बूथ तक की रणनीति बनाने की जबरदस्त चुनौती है। नई स्थितियों में वर्तमान विधायक के लिए भी राह आसान नहीं होने वाली।

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी उपेंद्र कुशवाहा द्वारा लॉन्च की गयी। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने लोगों की आर्थिक बिहार के विकास और कल्याण को सुनिश्चित अगर RLSP ठोस परिणाम के मामले में एक वितरण की पेशकश की। राष्ट्रीय दल एक राष्ट्र का प्रतिनिधित्व करता है और यह दल बिहार की अद्भुत भविष्य का प्रतिनिधित्व करता है।हमारी पार्टी युवाओं और किसानों की ताकत से बिहार का नवनिर्माण करेगी.‘जय जवान जय किसान-मिलके करेंगे नवनिर्माण’

Read More !

रालोसपा राष्ट्रीयता को प्रधानतम रखता है, हर भारतीय, चाहे उसकी जाति, पंथ या धर्म कुछ भी हो वो सब से पहले एक भारतीय है जहां सच 'राष्ट्रीय' राजनीति में विश्वास रखता है। यह कुरीति  और समाज के विभाजन की संकीर्ण राजनीति में विश्वास नहीं करता। पार्टी के एजेंडे को देश के लिए अपने प्यार के आधार पर लोगों को एकजुट करने के लिए है। इस पहचान को प्रधानता एक बार फिर से एक सांस्कृतिक और आर्थिक महाशक्ति के रूप में भारत का फिर से उद्भव के लिए मार्ग चार्ट होगा और यह हमारे देश के लिए गौरव प्रदान करेगा।

Read More !

एक तथ्य के आधार पर कार्यान्वित होने के लिए पार्टी के कारण पार्टी का प्रसार-संचार, और कैसे देश के लिए अपनी प्रमुख प्रधान जनता की सेवा करना ही लक्ष्य है। यह सरकार या समुदायों की तरह नहीं बल्कि हमारे लोकतांत्रिक लोगों के लिए हम सामाजिक या पर्यावरणीय प्रभाव के रूप साबित होते हैं। विचार-विमर्श उद्देश्य है। मूल्यों का आधार एक व्यक्ति या समूह का विश्वास बनाए रखना हैं, और इस मामले में संगठन को हर प्रकार से यानि, जिसमें तथ्यात्मक और भावनात्मक रूप से निर्णयबध्य होना होगा अटल और अविचारणीय स्तिथि के समक्ष ।

Read More !

Give us a Miss Call for Membership : 1800 - 313 - 1838

Dial No